बुधवार, 4 फ़रवरी 2009

क्या करूं कुछ आप ही बताइये !

प्रिय मित्रों,

 

    फोटोग्राफी विषय पर ट्यूटोरियल (Photography Tutorial) पोस्ट की एक श्रंखला का मन बना तो अपने स्थानीय मित्रों से भी जिक्र आ गया ।  एक सुर से उन्होने मुझे जो समझाया उसका लब्बो-लुबाब यह है कि मैं जिस प्रोजेक्ट को पुस्तक रूप में लेकर चल रहा हूं उसे ब्लॉग पर यूं ही बांट कर अपना नुकसान क्यों करना चाहता हूं? एक ने तो यह भी कह दिया कि फ्री की चीज़ की वैसे भी कद्र नहीं होती। 

 

    मेरी मूलभूत धारणा ये है कि ज्ञान बांटने से बढ़ता ही है, घटता नहीं ।  क्या आप मुझे इस बारे में सही राह दिखायेंगे ?

 

आपका ही,

 

सुशान्त सिंहल

 

Sushant K. Singhal

website : www.sushantsinghal.com

Blog : www.sushantsinghal.blogspot.com

email : info@sushantsinghal.com

              singhal.sushant@gmail.com

 

4 टिप्‍पणियां:

  1. मेरे ख्याल से जिसको प्रोफेशनल फोटोग्राफर बनना होगा वो यूँ ब्लॉग नहीं पढेगा| ब्लॉग मेरे जैसे लोग ही पढेंगे जिन्हें यह अच्छा लगता है थोड़ा टाइम निकाल कर कला सीख लें| आपसे मुलभुत बातों को बताने की गुजारिश है| किताब में जाहिर है बहुत कुछ होगा, उतने की शायद ही किसी को जरुरत हो|

    सिखाना प्रारम्भ करें गुरूजी यही गुजारिश है आपसे| बाकी आपकी इच्छा|

    उत्तर देंहटाएं
  2. 'ज्ञान बांटने से बढ़ता ही है, घटता नहीं'-सही कहा.

    -कितने ही ब्लॉगर हैं जो उस किताब को ढ़ूंढ़ कर खरीदेंगे?

    किन्तु यदि वह मैटर यहाँ उपलब्ध रहेगा तो पढ़ेंगे जरुर.

    किताब की अपनी महत्ता है/ और ब्लॉग की अपनी.

    बाकी तो स्व विवेक से आपको जो बेहतर लगे, वही सही है.

    पूर्व में कितनी ही कविता/कहानी की किताबें छपी हैं, जो पहले ब्लॉग पर आ चुकी है. अजीत जी से भी ’शब्दों का सफ’ किताब फॉरमेट में लाने का निवेदन जोरों पर है.

    जो भी निर्णय लें, सूचित करियेगा. बहुत शुभकामनाऐं.

    उत्तर देंहटाएं
  3. आप फोटोग्राफी पर ट्युटोरियल जरुर लिखिए इससे आपके पुस्तक लिखने के प्रोजेक्ट पर सकारात्मक प्रभाव ही पड़ेंगे | आपकी पोस्ट पर टिप्पणियों के माध्यम से आपको फोटोग्राफी के बारे और भी कई ऐसी जानकारियां मिल सकती है जो अब तक आप नही जानते ! साथ ही हर विषय पर एक चर्चा भी हो जाया करेगी |

    उत्तर देंहटाएं
  4. बाटों.. मेरा मतलब है लिखो.. अच्छा रहेगा.. समीर भाई और रतन सिहं की बात में बहुत वजन है..

    उत्तर देंहटाएं

आपके विचार जानकर ही कुछ और लिख पाता हूं। अतः लिखिये जो भी लिखना चाहते हैं।